ठट्ठा

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ठट्ठा ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰ अट्टहास या सं॰ टट्टरी ( = उपहास)] हँसी । उपहास । दिल्लगी । मसखरापन । खिल्ली । उ॰— तब नीरू ने कहा कि लोग मुझको हसेंगे और ठट्ठा में उड़ावेंगे ।—कबीर मं॰, पृ॰ १०४ । क्रि॰ प्र॰—करना । यौ॰—ठट्ठाबाज, टट्ठेबाज = दिल्लगीबाज । ठट्ठेबाजी = दिल्लगी । मुहा॰—ठट्ठा उड़ाना = उपहास करना । दिल्लगी करना । उ॰—और लोग तरह तरह की नकलैं करके उसका ठट्ठा उड़ाने लगे ।—श्रीनिवास ग्रं॰, पृ॰ १७६ । ठट्ठा मारना = खिलखिलाना । अट्टहास करना । ठट्ठा में उड़ाना = किसी की चर्चा या कथन को मजाक समझना । खिल्ली उडा़ना । ठट्ठा लगाना = खिलखिलाकर हँसना । ठठाकर हँसना । अट्ठहास करना ।