ठठेर

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ठठेर मंजारिका संज्ञा स्त्री॰ [हिं॰ ठठेरा + सं॰ मार्जारिका] ठठेरे की बिल्ली । उ॰—अहे बजंत्री हरिन भ्रम कहा बजावै बीन । या ठठेर मंजरिका सुर सुनि मोहैगी न । —दीनदयाल (शब्द॰) । विशेष—ठठेरों की बिल्ली के सामने रात दिन बरतन पीटे जाने से न तो वह थोड़ी खड़खड़ाहट से ड़रती है न किसी अच्छे शब्द पर मोहित होती है ।