ठण्ढी

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ठंढी ^२ संज्ञा स्त्री॰ शीतला । चेचक (स्त्री॰) । मुहा॰—ठंढी लगना = शीतला के दानों का मुरझाना । चेचक का जोर कम होना । ठंढी निकलना = शीतला के दाने शरीर पर होना । शीतला या चेचक का रोग होना ।