ठर्री

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ठर्री संज्ञा स्त्री॰ [देश॰]

१. बिना अंकुर उठा हुआ धान का बीज जो छितराकर बोया जाता है ।

२. बिना अंकुर उठे हुए धान की बोआई ।