ठसाठस

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ठसाठस क्रि॰ वि॰ [हिं॰ ठस] ऐसा दबाकर भरा हुआ कि और भरने की जगह न रहे । ठूँसकर भरा हुआ । खूब कस— कर भरा हुआ । खचाखच । जैसे,—(क) वह संदूक कपड़ों से ठसाठस भरा हुआ है । (ख) इस कुप्पे में ठसाठस चीनी भरी हुई है । विशेष—इस शब्द का प्रयोग केवल चूर्ण या ठोस वस्तुओं के लिये ही होता है, पानी आदि तरल पदाथों के लिये नहीं । जो वस्तु भरी जाती है और जिस वस्तु में भरी जाती है दोनों के संबध में इस शब्द का व्यवहार होता है । जैसे, संदूक ठसाठस भरा है, कपड़े ठसाठस भरे हैं ।