ठाकना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ठाकना पु † क्रि॰ स॰ [हिं॰ ठाक + ना (प्रत्य॰)] ठीक करना । रोकना । स्थिर करना । उ॰—द्दष्टि कौ ठाकि मन कौ समझावै । काम कौ साधि जाय महलि समावै ।—प्राण॰, पृ॰ २९ ।