ठाकुरप्रसाद

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ठाकुरप्रसाद संज्ञा पुं॰ [हिं॰]

१. देवता की निवेदित वस्तु । नैवेद्य ।

२. एक प्रकार का धान जो भादों महीने के अंत और क्वार के आरंभ में हो जाया करता है ।