ठाकुरसेवा

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ठाकुरसेवा संज्ञा स्त्री॰ [हिं॰ ठाकुर + सेवा]

१. देवता का पूजन ।

२. वह संपत्ति जो किसी मंदिर के नाम उत्सर्ग की गई हो ।