ढिलाना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ढिलाना ^१ क्रि॰ स॰ [हिं॰ ढिलना का प्रे॰ रूप]

१. ढीलने का काम कराना ।

२. ढीला कराना ।

ढिलाना पु † ^२ क्रि॰ स॰

१. ढीला करना ।

२. कसी या बँधी हुई वस्तु को खोलना । उ॰— जसु स्वामी जब उठे प्रभाता । बैलन बँधे लखे सुखदाता । खैती हित लै गए ढिलाई । भेद न जान्यो गए चोराई ।— रघुराज (शब्द॰) ।