ढेँढ

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ढेँढ † ^१ संज्ञा पुं॰ [देश॰]

१. कौवा ।

२. एक नीच जाति जो मरे जान वरों का मांस खाती है । उ॰—माँस खाँय ते ढेढ़ सब मद पीवै सी नीच ।— कबीर (शब्द॰) ।

३. मूर्ख । मुढ़ । जड़ ।

ढेँढ ^२ संज्ञा पुं॰ [सं॰ तुण्ड, हिं॰ ढोंढ़] कपास आदि का डोडा । ढोंढ । उ॰— सेमर सुवना सेइए दुइ ढेंरे, की आस ।— कबीर (शब्द॰) ।