ढेर

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

संज्ञा[सम्पादन]

  1. बहुत सारे वस्तुओं को फैलाकर रखने को कहते हैं।

क्रिया[सम्पादन]

  1. मार डालना, गिरा देना

उदाहरण[सम्पादन]

संज्ञा
  1. आपने यहाँ सामान का ढेर क्यों बना के रख दिया है?
क्रिया
  1. उसने अपने सभी दुश्मनों को एक बार में ही ढेर कर दिया।

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ढेर ^१ संज्ञा पुं॰ [हिं॰ धरना] नीचे ऊपर रखी हुई बहुत सी वस्तुओं का समूह जो कुछ ऊपर उठा हुआ हो । राशि । अटाला । अंबार । गंज । टाल । क्रि॰ प्र॰—करना ।—लगाना । मुहा॰— ढेर करना = मारकार गिरा देना । मार डालना । उ॰— होश की दवा करो । ढेर कर दूँगा ।— फिसाना॰, भा॰ ३, पृ॰ १३७ । ढेर रखना = मारकर रख देना । जीता न छोड़ना । ढेर रहना = (१) गिरकर मर जाना ।(२) थककर चूर हो जाना । अत्यंत शिथिल हो जाना । ढेर हो जाना = (१) गिरकर मर जाना । मर जाना । (२) ध्वस्त होना । गिर पड़ जाना । जैसे, मकान का ढेर होना । (३) शिथिल हो जाना ।

ढेर † ^२ वि॰ बहुत । अधिक । ज्यादा ।