ढोना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ढोना क्रि॰ स॰ [सं॰ वोढ (= वहन करना, ले जाना), आद्यंत वर्णविपर्यय> ढोव]

१. बोझ लादकर ले जाना । भार ले चलना । भरी वस्तु को ऊपर लेकर एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुँचाना । संयो॰ क्रि॰— देना ।— ले जाना ।

२. उठ ले जाना । जैसे,— चोर सार माल ढो ले गए ।