तंबू

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

तंबू संज्ञा पुं॰ [हिं॰ तनना]

१. कपडै़, टाट, कनवास, आदि का बना हुआ वह बड़ा घर जो खंभों और खूँटों पर तना रहता है और जिसे एक स्थान से उठाकर दूसरे स्थान तक ले जा सकते हैं । खेमा । डेरा । शिविर । शामियाना । विशेष— साधारणतः तंबू का व्यवहार जंगलों में शिकार आदि के समय रहने अथवा नगरों में सार्वजनिक सभाएँ, खेल, तमाशे और नाच आदि करने के लेये होता है । क्रि॰ प्र॰—खड़ा करना ।—तानना ।

२. एक प्रकार कौ मछली जो वाँद की तरह होती है ।