तअस्सुब

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

तअस्सुब संज्ञा पुं॰ [अ॰] पक्षपात, विशेषतः धर्म या जाति संबंधी पपात । उ॰—तअस्सुब में हुए हैवान दिलशादा ।—कबीर ग्रं॰, पृ॰ २०८ ।