तख्त

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

तख्त संज्ञा पुं॰ [फ़ा॰ तख्त]

१. राजा के बैठने का आसन । सिंहा- सन ।

२. तख्तों की बनी हुई बड़ी चौकी । यौ॰—तख्त की रात = सोहागरात । (मुसल॰) ।

३. राज्य । शासन । हुकूमत (को॰) ।

४. पलंग । चारपाई (को॰) ।

५. जीन (को॰) ।

तख्त ताऊस संज्ञा पुं॰ [फ़ा॰ तख्त + अ॰ ताऊस] एक प्रसिद्ध राजसिंहासन जिसे शाहजहाँ ने ६ करोड़ रुपया लगवाकर बनवाया था । इसके ऊपर एक जड़ाऊ मोर पंख फैलाए हुए खड़ा था । इश तख्त को सन् १७३९ ई॰ में नादिरशाह लूटकर ले गया ।