सामग्री पर जाएँ

तत्सम

विक्षनरी से


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

तत्सम संज्ञा पुं॰ [सं॰] भाषा में व्यवहृत होनेवाला संस्कृत का वह शब्द जो अपने शुद्ध रूप में हो । संस्कृत का वह शब्द जिसका व्यवहार भाषा में उसके शुद्ध रूप में हो । जैसे,—दया, प्रत्यक्ष, स्वरूप, सृष्टि आदि ।