तामसी

विक्षनरी से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

तामसी ^१ वि॰ स्त्री॰ [सं॰] तमोगुणवाली । जैसे, तामसी प्रकुति । यौ॰— तामसी लीना = असंतोष के प्रकारों में से एक (सांख्य) ।

तामसी ^२ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰]

१. अँधेरी रात ।

२. महाकाली ।

३. जटामासी । बलाछड़ ।

४. एक प्रकार की माया विद्या जिसे शिव ने निकुंभिला यज्ञ से प्रसन्न होकर मेघनाद को दिया था ।