तिहाई

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

तिहाई ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰ त्रि + भाग]

१. तृतीयांश । तीसरा भाग । तीसरा हिस्सा ।

तिहाई ^२ संज्ञा स्त्री॰ खेत की उपज । फसल । (पहले खेत की उपज का तृतीयांश काश्तकार लेता था, इसी से यह नाम पड़ा) । उ॰—नई तिहाई के अँखुआ खेतन ज्यौं ऊगत ।—प्रेमघन॰, भा॰ १, पृ॰ ४४ । मुहा॰—तिहाई काटना = फसल काटना । तिहाई मारी जाना = फसल का न उपजना ।