तेलहन

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

तेलहन संज्ञा पुं॰ [हिं॰ तेल + हिं॰ हन (प्रत्य॰) वे बीज जिनसे तेल निकलता है । जैस, सरसों, तिल, अलसी, इत्यादि । उ॰—तिरगुन तेल चुआवै हो तेलहन संसार । कोइ न बचे जोगी जती बारंबार ।—कबीर॰ श॰, भा॰ ३, पृ॰ ३६ ।