त्रिदश

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

त्रिदश संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. देवता । उ॰—(क) कंदर्प दर्प दुर्गम दवन उमारवन गुन भवन हर । तुलसीस त्रिलोचन त्रिगुन पर त्रिपुर मथन जय त्रिदशवर ।—तुलसी (शब्द॰) । (ख) निरखत बरखत कुसुम त्रिदश जन सूर सुमति मन फूल ।—सूर (शब्द॰) ।

२. जीव ।