थाना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

संज्ञा

अनुवाद


प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

थाना संज्ञा पुं॰ [सं॰ स्थानक, प्रा॰ थाण, हिं॰ थान]

१. अड़्डा । टिकने या बैठने का स्थान । उ॰—पुण्यभूमि पर रहे पापियों का थाना क्यों ? —साकेत, पृ॰ ४१६ ।

२. वह स्थान जहाँ अपराधों की सूचना दी जाती है ओर कुछ सरकारी सिपाही रहते हैं । पुलिस की बड़ी चौकी । मुहा॰— थाने चढ़ाना = थाने में किसी के विरुद्ध सूचना देना । थाने में इत्तला करना । थाना बिठाना = पहरा बिठाना । चौंकी बिठाना ।

३. बाँसों का समूह । बाँस की कोठी ।