दंडघर

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

दंडघर ^२ संज्ञा पुं॰

१. यमराज ।

२. शासनकर्ता ।

३. संन्यासी ।

४. छड़ी दरदार । द्वाररक्षक । उ॰—जहाँ बूढे करणिक, दंडधर, कंचुकी और वाहक तत्परता से इधर उधर घूमते ।—वै॰ न॰ पृ॰ ६४ ।