दरी

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

दरी ^१ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰]

१. गुफा । खोह ।

२. पहाड़ के बीच वह खड़ु था नीचा स्थान जहाँ कोई नदी बहती या गिरती हो । यौ॰—दरीभृत् । दरीमुख ।

दरी ^२ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ स्तर, स्तरी (= फैलाने की वस्तु)] मोटे सूतों का बुना हुआ मोटे दल का बिछौना । शतरंजी ।

दरी ^३ वि॰ [सं॰ दरिन्]

१. फाड़नेवाला । विदीर्ण करनेवाला ।

२. डरनेवाला । डरपोका । कादर ।

दरी ^४ संज्ञा स्त्री॰ [फा़॰] फारसी भाष की एक शाखा का नाम [को॰] ।