द्वितीय

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

द्वितीय ^१ वि॰ [सं॰] [वि॰ स्त्री॰ द्वितीया] दूसरा ।

द्वितीय ^२ संज्ञा पुं॰

१. पुत्र । विशेष— आत्मा ही पुत्र रूप से जन्म ग्रहण करता है । इससे यह नाम पड़ा ।

२. साथी । सहायक । मित्र (विशेषतः समासांत में प्रयुक्त) ।

३. जोड़ । समकक्ष (को॰) ।

४. वर्ग का दूसरा अक्षर —ख, छ, ठ, थ और फ (को॰) ।

५. मध्यम पुरुष (व्याकरण) ।

६. आधा । अर्धभाग (को॰) ।

द्वितीय क्रि॰ वि॰ [सं॰ द्वितीयम्] दूसरी बार । फिर [को॰] ।