धकेलना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

धकेलना क्रि॰ स॰ (हिं॰ धक्का) ढकेलना । ठेलना । धक्का देना । उ॰—मेघों को एकत्रित करती हवा, हाथियों की धकेलती, उड़ चलो अरे लोगों उस निर्बल पुण्य पुरुष की करो मदद कुछ, तुम्हें चाहता था जौ इतना ।—दंदन॰, पृ॰ १०२ । संयो॰ क्रि॰—देना । विशेष—दे॰ 'ढकेलना' ।