धूसर

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

धूसर ^१ वि॰ [सं॰]

१. धूल के रंग का । खाकी । ईषत् पांडु वर्ण । मटमैला । मटीला । उ॰—संध्या है आज भी तो धूसर क्षितिज में ।—लहर॰, प॰ ६५ ।

२. धूल लगा हुआ । जिसमें धूल लिपटी हो । धूल से भरा । उ॰—(क) धसर धूरि घुटुरुवन रेंगनि बोलनि वचन रसाल की । सूर (शब्द॰) । (ख) धुसर धूरि भरे तनु आए । भूपति विहँसि गोद बैठाए ।—तुलसी (शब्द॰) । यौ॰—धूलधूसर = धूल से भरा । जिसे गर्द लिपटी हो ।

धूसर ^२ संज्ञा पुं॰

१. मटमैला रंग । पीलापन लिए सफेद रंग । भूरा रंग ।

२. गदहा ।

३. ऊँट ।

४. कबूतर ।

५. बनियों की एक जाति ।

६. तेली (को॰) ।

७. मटीले रंग की कोई वस्तु (को॰) ।