नक्कारा

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

नक्कारा संज्ञा पुं॰ [अ॰ नक्कारह] डुगड़ुगी या बाएँ की तरह का एक बहुत बड़ा बाजा जिसमें एक बहुत बड़े कूँडे के ऊपपर चमड़ा मढा़ रहता है । नगाड़ा । डँका । नौबत । दुदुभी । विशेष—इसके साथ में इसी प्रकार का पर इससे बहुत छोटा एक और बाजा होता है । इन दोनों क आमने सामने रखकर लकड़ी के दो दंड़ों से, जिन्हे से, जिन्हें चोब कहते है, बजाते है । मुहा॰—नक्कारा बजाते फिरना = डुगडुगी पीटते फिरना । चारों ओर प्रकट करते फिरना । नक्कारा बजा के = खुल्लमखुल्ला । डंके की चोट । नक्कारा हो जाना = फूलकर बहुत बढ़ना । बहुत फूलना ।