नरद

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

नरद ^१ संज्ञा स्त्री॰ [फा़॰नर्द]

१. चौसर खेलने की गोटी । उ॰— तुरत डारिये मार नरद कच्ची करि दीजै ।—गिरधर (शब्द॰) ।

२. एक पौधा जिसके फुलों का अरक खींचा जाता है और जिसकी पत्तियाँ मसाले के काम में आती हैं ।

नरद ^२ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ नर्द्द] शब्द । ध्वनि । नाद ।