नव

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

विशेषण[सम्पादन]

नया, नवीन, नई

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

नव ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. स्तव । स्तोत्र ।

२. लाल रंग की गदहपूरना । विशेष-दे॰ 'पुनर्नवा' ।

३. हरिवंश के अनुसार उशीनर नामक राजा के लड़के का नाम ।

४. काक । कौआ (को॰) ।

नव ^२ वि॰ [सं॰] नया । नवीन । नूतन ।

नव ^३ वि॰ [सं॰] नौ । आठ और एक । दस से एक कम । विशेष—'नव' शब्द से कहीं ग्रह और रत्न आदि उन पदार्थों का भी अभिप्राय लिया जाता है जो गिनती में नौ होते हैं । जैसे—स्तर किरीट अति लसत जटित नव नव कनगूरे ।—गिरधर (शब्द॰) ।