नाटा

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

नाटा ^१ वि॰ [सं॰ नत (= नीचा)] [वि॰ स्त्री॰ नाटी] जिसका डील ऊँचा न हो । छोटे डील का । छोटे कद का । (प्राणियों के लिये) जैसे, नाटा आदमी, नाटा बैल । उ॰— नेपाल आदि उत्तराखंड के देशों में लोग नाटे होते हैं ।— शिवप्रसाद (शब्द॰) ।

नाटा संज्ञा पुं॰ [स्त्री॰ नाटी] छोटे डील का बैल या गाय । उ॰— उ॰— सिगरोइ दूध पियो मेरे मोहन बलिहि देहु नहिं बाँटी । सूरदास नंद लेहू दोहनी दुही लाला की नाटी ।— सूर (शब्द॰) ।

नाटा करंज संज्ञा पुं॰ [हिं॰ नाटा + करंज] एक प्रकार का करंज ।