सामग्री पर जाएँ

निमंत्रण

विक्षनरी से


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

निमंत्रण संज्ञा पुं॰ [सं॰ निमन्त्रण] [वि॰ निमंत्रण]

१. किसी कार्य के लिये नियत समय पर आने के लिये ऐसा अनुरोध जिसका अकारण पालन न करने से दोष का भागी होना पड़ता हैं । बुलावा । आह्वान । क्रि॰ प्र॰—करना ।—देना ।

२. भोजन आदि के लिये नियत समय पर आने का अनुरोध । खाने का बुलावा । न्यौता । क्रि॰ प्र॰—करना । देना । विशेष—'आमंत्रण' और 'निमत्रण' में यह भेद है कि निमंत्रण का पालन न करने पर दोष का भागी होना पड़ता है ।