निरर्थक

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

निरर्थक वि॰ [सं॰]

१. अर्थशून्य । बेमानी । विशेष— निरर्थक वाक्य़ काव्य का एक दोष माना गया है (चंद्रालोक) ।

२. न्याय में एक निग्रह स्थान । दे॰ 'निग्रहस्थान' ।

३. निष्प्र— योजन । व्यर्थ । बिना मतलब का ।

४. निष्फल ।जिससे कोई कार्य़ सिद्ब न हो । बेफायदा ।