पंचशब्द

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

पंचशब्द संज्ञा पुं॰ [सं॰ पञ्चशब्द]

१. पाँच मंगलसूचक बाजे जो मंगल कार्यों में बजाए जाते हैं—तंत्री, ताल, झाँझ, नगारा और तुरही । दे॰ 'पंचमहाशब्द' ।

२. व्याकरण के अनुसार सूत्र, वार्तिक, भाष्य, कोश और महाकवियों के प्रयोग ।

३. पाँच प्रकार की ध्वनि—वेदध्वनि, बंदीध्वनि, जयध्वनि, शंख- ध्वनि और निशानध्वनि ।