पावर

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

पावर ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰] १, पासे का वह पार्श्व जिसपर दो बिंदियाँ बनी रहती है ।

२. इस तरह का पासा ।

३. इस प्रकार के पासे को फेकने का विशेष ढंग [को॰] ।

पावर ^२ वि॰ [सं॰ पामर, प्रा॰ पावर] दे॰ 'पामर' उ॰— तुम्ह त्रिभुवन गुर बेद बखाना । आन जीव पावर का जाना ।— मानस १ । १११ ।

पावर ^३ संज्ञा पुं॰ [अं॰]

१. अधिकार । प्रभाव । शक्ति । सामर्थ्य । बल ।

२. शासन । हुकूमत ।

३. सेना । चमु ।

४. बिजली आदि की वह शक्ति जिससे मशीन चलती है । यंत्रों को गतिशील करनेवाली शक्ति [को॰] । यौ॰—पावरलूम=यंत्रशक्ति से चलनेवाला करघा । पावर- स्टेशन= दे॰'पावरहौस' ।