पिट्ठू

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

पिट्ठू संज्ञा स्त्री॰ [हिं॰] दे॰ 'पीठी' ।

पिट्ठू संज्ञा पुं॰ [हि॰ पिट्ठु+ऊ(प्रत्य॰)]

१. पीछे चलनेवाला । पिछलगा । अनुयायी ।

२. सहायक । मददगार । पृष्ठपोषक । हिमायती । ३किसी खिलाड़ी का वह कल्पित साथी जिसकी बारी में वह स्वयं खेलता है । विशेष—जब दोनों पक्षों के खिलाड़ियों की संख्या बराबर नहीं होती तब न्युनसंख्यक पक्ष के एक दो खिलाड़ी अपने अपने साथ एक एक पिठ्ठू, मान लेते हैं ओर अपनी बारी खे ल चुकने पर दूसरी बार उस पिट्ठ को बारी लेकर खेलते है ।

४. खेल में साथ रहनेवाला ।

५. अंघानुकरण करनेवाला । बिना समझे बुझे किसी का अनुयायी होनेवाला ।

६. किसी की हर एक बात का समर्थन करनेवाला । हाँ में हाँ मिलाने वाला । खुशामदी ।