पूर्णविराम

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

पूर्णविराम संज्ञा पुं॰ [सं॰] लिपिप्रणाली में वह चिह्न जो वाक्य के पूर्ण हो जाने पर लगाया जाता है । वाचक के लिये सबसे बड़े विराम या ठहराव का चिह्न या संकेत । विशेष—अँगरेजी आदि अधिकांश लिपियों में, और उन्हीं के अनुकरण पर मराठी आदि में भी, यह चिह्न एक बिंदु ' . ' के रूप में होता हैं, परंतु नागरी, बँगला आदि में इसके लिये खड़ी पाई ' । ' का व्यवहार होता है ।