पोशाक

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

पोशाक संज्ञा स्त्री॰ [फा़॰] पहनने के कपडे़ । वस्त्र । परिधान । पहनावा । उ॰—कीन्हे हैं पोशाक कारी, अंग राग कज्जल को, लोहे के विभूषण, त्यों दूषण हथ्यार हैं ।—रघुराज (शब्द॰) । मुहा॰—पोशाक बढा़ना = कपडे़ उतारना । विशेष—यह शब्द फारस से नहीं आया है, यहीं हिंदुस्तान में बना है ।