प्रकोप

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

प्रकोप संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. बहुत अधिक कोप ।

२. क्षोभ ।

३. चचलता ।

४. किसी रोग की प्रबलता । बीमारी का अधिक और तेज होना । जैसे,—आजकल शहर में हैजे का बहुत प्रकोप है ।

५. शरीर के वात, पित्त आदि का किसी कारण से बिगड़ जाना जिससे रोग उत्पन्न होता है । जैसे,— उनको पित्त के प्रकोप के कारण ज्वर हुआ है ।

६. आक्र- मण । हमला (को॰) ।

७. विद्रोह ।