प्रेस

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

प्रेस संज्ञा पुं॰ [अं॰]

१. वह कल जिससे कोई चीज दबाई या कसी जाय । पेंच ।

२. हाथ से चलाने की वह कल जिससे छपा ई का काम होता है । छापने की कल ।

३. वह स्थान जहाँ पुस्तकों आदि की छपाई का काम होता हों । छापाखाना । मुहा॰—(किसी चीज का ) प्रेस में होना = (किसी चीज की) छपाई का काम जारी रहना । छपना । जैसे, अभी, वह पुस्तक प्रेस में है । यौ॰—प्रेस ऐक्ट । प्रेस कम्यूनिक । प्रेस मशीन । प्रेस रिपोर्टर ।

प्रेस ऐक्ट संज्ञा पुं॰ [अं॰] वह कानून जिसके द्बारा छापाखानेवालों के अधिकारों और स्वतंत्रता आदि का नियंत्रण होता है । विशेष—ऐसा कानून उनको उच्छृंखल होने, राजकीय अथवा सामाजिक नियमों को तोड़ने, अथवा इसी प्रकार के और काम करने से रोकता है । जो छापाखानेवाले ऐसे नियमों का भंग करते हैं, उन्हें इसी कानून के द्वारा दंड दिया जाता है ।

प्रेस कम्यूनिक संज्ञा पुं॰ [अं॰ प्रेस + कम्यूनिक] किसी विषय के संबंध में वह सरकारी विज्ञाप्ति या वक्तव्य जो अखबारों को छापने के लिये दिया जाता है । जैसे,—सरकार ने प्रेस कम्यूनिक निकाला है कि अफसरों को डालियाँ आदि नजर न करें ।

प्रेस रिपोर्टर संज्ञा पुं॰ [अं॰] दे॰ 'रिपोर्टर'—१ ।