फकिरवा

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

फकिरवा † संज्ञा पुं॰ [हि॰ फकीर + वा (प्रत्य॰)] दे॰ 'फकीर' । उ॰ —तोहिं मोरि लगन लगाए रे फकिरवा ।—कबीर श॰, भा॰ २, पृ॰ ४५ ।