फजीलत

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

फजीलत संज्ञा स्त्री॰ [अ॰] उत्कृष्टता । श्रेष्ठता । मुहा॰—फजीलत की पगड़ी = विद्वत्तासूचक पदक वा चिह्न । उ॰—जिन्हें इस हुनर में फजीलत की पगड़ी हासिल है वे क्या नहीं कर सकेत ।—भट्ट (शब्द॰) । विशेष—मुसलमानों में यह चाल है कि जब कोई पूर्ण विद्वान् होता है और विद्वानों की सभा में अपनी विद्वता को प्रमाणित करता है तब सब विद्वान् वा प्रधान उसके सिर पर पगड़ी बाँधते हैं जिसे फजीलत की पगड़ी कहते हैं । इस पगड़ी को बाँधकर वह जिस सभा में जाता है लोग उसका आदर और प्रतिष्ठा करते हैं ।