फरमा

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

फरमा ^१ संज्ञा पुं॰ [अं॰ फ्रेम]

१. ढाँचा । डौल ।

२. लकड़ी आदि का बना हुआ ढाँचा साँचा जिसपर रखकर चमार जूता बनाते हैं । कालबूत ।

३. किसी प्रकार का साँचा जिसमें कोई चीज ढाली जाय ।

४. कंपोज करके चेस में कसा हुआ मैटर जो छपने के लिये तैयार हो ।

फरमा ^२ संज्ञा पुं॰ [अं॰ फार्म] कागज का पूरा तखता जो एक बार में प्रेस में छापा जाता है । जुज । दे॰ 'फार्म' ।