सामग्री पर जाएँ

फील

विक्षनरी से


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

फील संज्ञा पुं॰ [फा़॰ फील] हाथी । उ॰—झालरि । झुकत झलकत झपे फीलन पै अली अकबर खाँ के सुभट सराह सराह के । अरि उर रोर सोर परत संसार घोर बाजत नगारे नरवर नाह के ।— गुमान (शब्द॰) । यौ॰—फिलपाँव = श्लीपद । दे॰ 'फीलपा' ।