बँधाना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

बँधाना क्रि॰ सं॰ [हिं॰ बाँधना का प्रे॰ रूप]

१. बाँधने के लिये प्रेरण करना । बाँधने का काम दूसरे से कराना । बँधवाना ।

२. धारण कराना । जैसे, धीरज बँधाना, हिम्मत बँधाना ।

३. कैद कराना । दे॰ 'बँधवाना' ।

४. स्वयं किसी का जान बूझकर बंधन में पड़ जाना ।