बकचदन

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

बकचदन संज्ञा पुं॰ [सं॰ बकचन्दन] एक वृक्ष का नाम जिसकी पत्तियाँ गोल और बड़ी होती हैं । विशेष— इसका पेड़ ऊंचा और लकरी दृढ़ होती है । इसका फल लबा और पतला होता है जिसमें छह से आठ नौ अंगुल लबे तीन चार दल होते हैं । यह ऊपर कुछ ललाई लिए और भीतर पीलापन लिए भूरे रंग का होता है । फल सिर के दाद में पीसकार लगाए जाते है । इसे भकचंदन भी कहते हैं ।