बकता

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

बकता पु वि॰ [सं॰ वकृत, वक्ता] दे॰ 'वक्ता । उ॰— (क) श्रोता बकता ज्ञाननिधि कथा राम कै गूढ़ ।—मानस, १ । ३० । (क) कथता बकता मरि गया, मूर्ख मूढ़ अजान ।—कबीर सा॰ सा॰, पृ॰ ८८ ।