बकनी

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

बकनी † संज्ञा स्त्री॰ [हिं॰ बकना] बकवास । उ॰— सूरत मिली जाय ब्रह्म सो, दो मन बुध को पूठ । जन दरिया जहाँ देखिए कथनी बकनी झूठ ।—दरिया॰ बानी, पृ॰ २० ।