बकमौन

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

बकमौन ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰ वक + मौन] अपना दुष्ट उद्देश्य सिद्ध करने के लिये बगले की तरह सीधे बनकर चुपचाप रहने की क्रिया या भाव ।

बकमौन ^२ वि॰ चुपचाप अपना काम साधनेवाला । उ॰— मुख में, कर में काख में हिय में चोर बकमौन । कहै कबीर पुकारि के पंडित चीन्हो कौन ।— कबीर (शब्द॰) ।