बकारी

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

बकारी संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ 'ब' कार या वाक्य] वह शब्द जो मुँह से प्रस्फुटित हो । मुँह से निकलनेवाला शब्द । क्रि॰ प्र॰—निकलना । मुहा॰—बकारी फूटना = मुँह से शब्द वा वर्णों का उच्चारण होना । शब्द निकलना । बात निकलना ।