बक्काल

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

बक्काल सज्ञा पुं॰ [अं॰] वह जो आटा, दाल, चावल या और/?/ बेचता हो । वर्णिक् । बनिया । उ॰— न जर्फो मतवर/?/ न गल्ल वो बक्काल ।—कविता को॰ भा॰ ४, पृ॰/? / यौ॰—बनिया बक्काल ।